अलीगढ़ : सड़कों पर सैंकड़ों लोग कर रहे नागरिकता संशोधन कानून का विरोध , इन्टरनेट सेवा बंद Featured

Monday, 16 December 2019 08:22 Published in सभी खबरे

जनमानस न्यूज़ डेस्क 

नागरिकता कानून को लेकर रविवार को एएमयू में चल रहे विरोध-प्रदर्शन के बार सोमवार को ईदगाह पर हजारों लोग एकत्र होकर नागरिकता कानून का विरोध कर रहे है। मौके पर भारी फोर्स तैनात किया गया है। एडीजी भी शहर में मौजूद हैं। इसके अलावा यूपी के 6 जिलों में हाई अलर्ट जारी किया है। वहीं, कासगंज और बरेली में धारा 144 लगा दी गई है। अलीगढ़, मेरठ और सहारनपुर में इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं।

बता दें कि नागरिकता कानून को लेकर एएमयू में चल रहे विरोध-प्रदर्शन ने रविवार रात को हिंसक रूप ले लिया। प्रदर्शन कर रहे छात्रों ने कैंपस से बाहर निकलने की कोशिश की। पुलिस के रोकने पर प्रदर्शनकारी छात्रों ने पुलिस पर पथराव कर दिया। पथराव में डीआईजी, एसपी सिटी, एसपी देहात सहित कई पुलिस कर्मी घायल हो गए। जवाब में आरएएफ ने छात्रों पर आसूं गैस के गोले छोड़ते हुए कैम्पस के अंदर खदेड़ दिया।

देर रात पुलिस कैंपस के अंदर घुसकर छात्रों को नियंत्रित करने का प्रयास कर रही है। पुलिस ने 15 प्रदर्शनकारी छात्रों को कैम्पस से दबोचकर थाना सिविल लाइन भिजवा दिया। देर रात एडीजी जोन अजय आनंद भी एएमयू कैम्पस पहुंच गए। उधर रजिस्ट्रार ने पांच जनवरी तक एएमयू बंद किए जाने व परीक्षाएं रद्द कर दी। छात्रों को हॉस्टल खाली करने के आदेश भी कर दिए गए। डीएम ने तत्काल प्रभाव से अलीगढ़ में इंटरनेट सेवाएं सोमवार की रात 10 बजे तक बंद करने के आदेश कर दिए। वहीं शहर के 100 से अधिक निजी व कान्वेंट स्कूलों ने सोमवार का अवकाश घोषित कर दिया है।

वहीं डीएम चन्द्र भूषण सिंह ने बताया कि जिले में शांति है। कानून-व्यवस्था की स्थिति के लिए एहतियात के तौर पर इंटरनेट पर रोक लगाई गई है। यह सोमवार की रात 12 बजे तक प्रभावी रहेगा। इसके साथ ही जिले में सभी प्रकार के प्रदर्शन पर रोक लगा दी गई है। जिले में धारा-144 पहले से प्रभावी है। इसका सख्ती से पालन कराने का निर्देश दिया गया है। जिले के सभी एडीएम, एसडीएम, एसीएम और अन्य मजिस्ट्रेट को सतर्क कर दिया गया है। सभी को अपने-अपने क्षेत्रों में सतर्क रहने को कहा गया है।