Tuesday, 04 February 2020 14:51

महिला विकास के लिए आवंटन बढ़ा बजट में 30,000 करोड़ रुपए का किया गया प्रावधान Featured

Written by
Rate this item
(0 votes)

लोकसभा में शनिवार को वित्त वर्ष 2020 - 21 के लिए पेश बजट में महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के लिए 30 हजार करोड़  रुपए का प्रावधान किया गया है। मौजूदा वित्त वर्ष के लिए आवंटित राशि से यह 14 फीसद अधिक है।

पोषण, सामाजिक सुरक्षा एवं कल्याण समेत सामाजिक सेवा क्षेत्र के लिए भी बजटीय आवंटन में वृद्धि हुई है। वर्ष 2019-20 के 3891.71 अपेक्षा 2020-21 में इसके लिए 4036.49 करोड़ रुपए का आवंटन किया गया है। राष्ट्रीय पोषण अभियान के लिए भी मौजूदा वित्त वर्ष के 3400 करोड़ रुपए की अपेक्षा आगामी वित्त वर्ष के लिए 3700 करोड़ रुपए का आवंटन किया गया है।

‘वन स्टाप सेंटर’ योजना के लिए भी बजटीय आवंटन में बड़ी वृद्धि हुई है और मौजूदा वित्त वर्ष के 204 करोड़ रुपए की अपेक्षा आगामी वित्त वर्ष के लिए 385 करोड़ का आवंटन किया गया है। प्रधन मंत्री मातृ वंदना योजना के लिए बजटीय आवंटन 2300 करोड़ रुपए से बढ़ा कर 2500 करोड़ रुपए कर दिया गया है। इस योजना के तहत गर्भवती महिलाओं तथा स्तनपान कराने वाली महिला को उसके बच्चे के जन्म पर 6000 रुपए दिए जाते हैं।

बाल सुरक्षा सेवा के लिए बजट का आवंटन 1350 करोड़ रुपए से बढ़ाक कर 1500 करोड़ रुपए कर दिया गया है। इस प्रकार महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के बजटीय आवंटन में मौजूदा वित्त वर्ष की अपेक्षा 14 फीसद वृद्धि के साथ्ज्ञ आगामी वित्त वर्ष के लिए कुल मिला कर 30,007.10 करोड़ रुपए का आवंटन किया गया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ ’ योजना के लिए 220 करोड़ रुपए आवंटित किए गए हैं। महिला शक्ति केंद्र के लिए बजटीय आवंटन दोगुन कर इसे 50 करोड़ रुपए से बढ़ाकर 100 करोड़ रुपए कर दिया गया है। केंद्र प्रायोजित योजनाओं के लिए कुल 29 हजार 720.38 करोड़ रुपए के बजट का आवंटन किया गया है जो पिछले साल की अपेक्षा 3804 करोड़ रुपया अधिक है।

Read 250 times