राष्ट्रीय

चीनी जल क्षेत्र में फंसे दो जहाजों को लेकर भारत ने जताई चिंता, चालक दल बदलने की अपील

सांकेतिक फोटो (Pixabay)

सांकेतिक फोटो (Pixabay)

विदेश मंत्रालय ने कहा है कि चालक दल के सदस्यों पर बढ़ते तनाव और उनके लिए बढ़ती कठिन परिस्थितियों को लेकर हम चिंतित हैं. हम दोनों जहाजों पर सख्ती से नजर बनाए हुए हैं.

नई दिल्ली. चीन (China) के एक बंदरगाह के बाहर फंसे हुए दो जहाजों को लेकर भारत (India) ने चिंता जाहिर की है. शुक्रवार को भारतीय विदेश मंत्रालय (External Affairs) ने मालवाहक पोत ‘एमवी जग आनंद’ और ‘एमवी अनस्तासिया’ की स्थिति को लेकर बयान जारी किया है. विदेश मंत्रालय ने कहा, हम उम्मीद करते हैं तत्काल, व्यावहारिक, समयबद्ध तरीके से सहायता मुहैया कराई जाएगी. विदेश मंत्रालय ने कहा है कि चालक दल के सदस्यों पर बढ़ते तनाव और उनके लिए बढ़ती कठिन परिस्थितियों को लेकर हम चिंतित हैं. हम दोनों जहाजों पर सख्ती से नजर बनाए हुए हैं.

विदेश मंत्रालय ने कहा भारतीय राजदूत ने व्यक्तिगत रूप से चीन के उप विदेश मंत्री के साथ इस मुद्दे को उठाया है. मंत्रालय चीनी दूतावास के साथ इस मुद्दे पर बातचीत कर रहा है. चीनी अधिकारियों ने बताया है कि कोविड संबंधित प्रतिबंधों के कारण, इन बंदरगाहों से चालक दल परिवर्तन की अनुमति नहीं दी जा रही है. बीजिंग में हमारे दूतावास ने इन मामलों को चीनी विदेश मंत्रालय और स्थानीय प्रांतीय अधिकारियों के साथ बार-बार उठाया है.

चीन के अधिकारियों ने कोरोना का दिया बहाना
चीनी अधिकारियों ने जानकारी देते हुए बताया कि स्थानीय प्राधिकरणों द्वारा लगाए गए COVID-19 संबंधित प्रतिबंधों के कारण, इन बंदरगाहों से चालक दल परिवर्तन की अनुमति नहीं दी जा रही है. आपको बता दें चीन कोविड का बहाना कर रहा है अगर कोरोना वजह होता तो दूसरे जहाजों को भी आने की अनुमति नहीं देनी चाहिए. चीन का दावा है कि वह जहाज पर फंसे भारतीयों को हर तरह की मदद पहुंचा रहा है लेकिन सच्चाई यह है कि नाविकों का मानसिक तनाव बढ़ रहा है.




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button