Monday, May 20, 2024

बदलने वाला है हायर एजुकेशन सिस्टम, एक हो जाएंगे AICTE और UGC

केंद्र सरकार का इरादा एक कॉमन हायर एजुकेशनल बॉडी स्थापित करने का है. यही वजह है कि सरकार ने UGC और AICTE ऑफिस को मर्ज करने की तैयारी कर ली है. इसके लिए एक कमिटी का गठन किया गया है. हायर एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स की देखरेख के लिए एक कॉमन बॉडी होगी, जिसे हायर एजुकेशन कमीशन ऑफ इंडिया (HECI) के तौर पर जाना जाएगा. इसकी स्थापना का प्रस्ताव सबसे पहले 2018 में दिया गया था. वहीं, नेशनल एजुकेशन पॉलिसी (NEP) के तहत सुझाए गए सबसे बड़े बदलावों में से एक बदलाव कॉमन बॉडी की स्थापना रहा है.

अब इस दिशा में कदम बढ़ाते हुए UGC और AICTE के लिए एक सिंगल रेगुलेटरी बॉडी के रूप में एक साथ काम करने के लिए एक रोडमैप तैयार किया जाएगा. इस रोडमैप को तैयार करने का जिम्मा गठित की गई एक समिति को दिया गया है. दोनों संस्थानों को मर्ज किए जाने वाले पहले प्रमुख क्षेत्रों में रिसर्च इंड इनोवेशन, ई-गवर्नेंस, क्षेत्रीय भाषाओं में पुस्तकों का अनुवाद और परीक्षा सुधार शामिल हैं. तकनीकी कॉलेजों में इन कार्यों की देखरेख AICTE कर रहा था, जबकि नॉन-टेक्निकल बैकग्राउंड वाली यूनिवर्सिटीज और कॉलेजों में ये काम UGC द्वारा किया जा रहा था.

UGC चीफ ने प्रस्ताव पर क्या कहा?

टेक्निकल एजुकेशन और हायर एजुकेशन रेगुलेटर्स के सभी ब्यूरो प्रमुखों की बैठक में समिति को लेकर निर्णय लिया गया. AICTE के अंतरिम अध्यक्ष और यूजीसी के अध्यक्ष एम जगदीश कुमार ने कहा, ‘विस्तृत विचार-विमर्श के बाद ये बात सामने आई है कि UGC और AICTE दोनों को एक जैसा काम करना चाहिए. इन्हें फैकल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम, स्टूडेंट्स एंड फैकल्टी इंडक्शन प्रोग्राम, स्किल डेवलपमेंट, इंटर्नशिप, अंतरराष्ट्रीयकरण, फिजिकल, ऑनलाइन और हाइब्रिड मोड में दो डिग्री साथ में हासिल करने और यूनिवर्सल ह्यूमन वैल्यू समेत अन्य मुद्दों पर साथ काम करना चाहिए.’

कब बनाएगा जाएगा संस्थान?

माना जा रहा है कि केंद्र सरकार संसद से शीतकालीन सत्र में HECI को स्थापित करने के लिए बिल ला सकती है. नेशनल एजुकेशन पॉलिसी 2020 के अनुसार, HECI हायर एजुकेशन की देखरेख के लिए अकेला संस्थान होगा. ऑल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्निकल एजुकेशन (AICTE), यूनिवर्सिटी ग्रांट्स कमीशन (UGC) और नेशनल काउंसिल फॉर टीचर्स एजुकेशन (NCTE) को सभी रेगुलेटरी बॉडीज के साथ मिला दिया जाएगा, ताकि HECI का निर्माण हो सके. मर्ज की निगरानी के लिए एक समिति का गठन किया गया है. UGC चीफ की अध्यक्षता वाली समिति में UGC और AICTE के उपाध्यक्ष, UGC सचिव और AICTE सदस्य-सचिव भी शामिल हैं.

 

Advertisement
Gold And Silver Updates
Rashifal
Market Live
Latest news
अन्य खबरे