Monday, May 20, 2024

अमेरिका के बाद मेक्सिको की संसद में एलियन पर चर्चा:1 हजार साल पुराने एलियन के शव पेश किए; ये पेरू की खदान में मिले थे

मेक्सिको की संसद में मंगलवार को एलियन्स की मौजूदगी को लेकर चर्चा हुई। इस दौरान 2 शव भी दिखाए गए। दावा है कि ये शव एलियन्स के हैं। मेक्सिकन जर्नलिस्ट और यूफोलॉजिस्ट जेम मोसान ने बताया कि ये शव पेरू की एक खान से मिले थे, जो करीब 1 हजार साल पुराने हैं। संसद में इस इवेंट का लाइव टेलिकास्ट किया गया।

ममी बन चुके एलियन के शवों को लकड़ी के बॉक्स में रखा गया था। इसका वीडियो भी जारी किया गया है। सुनवाई के दौरान अमेरिकी नेवी के पूर्व पायलट रायन ग्रेव्स भी मौजूद थे। ग्रेव्स ने ही अमेरिकी संसद में दावा किया था कि सर्विस के दौरान वो एलियन का स्पेसक्राफ्ट देख चुके हैं।

मेक्सिकन संसद में इस मुद्दे पर चर्चा के दौरान हार्वर्ड एस्ट्रॉनॉमी डिपार्टमेंट के प्रोफेसर ने सरकार से एलियन्स पर स्टडी के लिए मंजूरी देने की मांग की।

एलियन के DNA की रेडियोकार्बन डेटिंग से हुई जांच
पत्रकार मोसान ने बताया कि UFO सैंपल्स पर हाल ही में ऑटोनॉमस यूनिवर्सिटी ऑफ मेक्सिको में स्टडी हुई थी। यहां वैज्ञानिकों ने DNA का रेडियोकार्बन डेटिंग के जरिए एनालिसिस किया। इससे पहले जुलाई में अमेरिकी संसद में भी एलियन्स को लेकर चर्चा हुई थी।

इस दौरान US नेवी के पूर्व इंटेलिजेंस ऑफिसर रिटायर्ड मेजर डेविड ग्रश ने दावा किया था कि अमेरिका कई सालों से UFO और एलियन्स से जुड़ी जानकारियां छिपा रहा है। उन्होंने ये भी कहा था कि अमेरिका इन UFO’s की रिवर्स इंजीनियरिंग पर काम कर रहा है।

पूर्व अमेरिकी नेवी अफसर का दावा- 1930 में मिले थे एलियन के शव
द गार्जियन के मुताबिक, मेजर ग्रश 2022 के आखिर तक अमेरिका की डिफेंस एजेंसी के लिए UAP (UFO से जुड़ी संदिग्ध घटनाएं) पर एनालिसिस कर रहे थे। सुनवाई में उन्होंने बताया था कि सरकार को एलियन मिले थे और वो उनके स्पेसक्राफ्ट पर सीक्रेट रिसर्च कर रही है।

ग्रश ने कहा था कि उन्हें काम के दौरान कई सालों से क्रैश हुए UFO’s पर चल रही रिसर्च और रिवर्स इंजीनियरिंग प्रोग्राम के बारे में पता चला था। हालांकि, उन्हें इस प्रोग्राम को देखने की मंजूरी नहीं दी गई। अमेरिकी रक्षा विभाग पेंटागन ने इन दावों को खारिज कर दिया था। पेंटागन ने कहा कि अमेरिका ने एलियन से जुड़ा कोई भी प्रोग्राम न कभी चलाया था और न अब ऐसा कुछ हो रहा है।

संसद में ग्रश ने ये भी दावा किया था कि 1930 में हुए क्रैश में दूसरे ग्रह का स्पेसक्राफ्ट मिला। साथ में बॉडी भी थी, ये इंसान की नहीं थी। उन्होंने बताया था कि US के इस प्रोग्राम में सीधे तौर पर शामिल अधिकारियों के जरिए उन्हें ये सूचना मिली थी। उन्होंने ये भी कहा कि अमेरिकी सरकार 1930 से ये प्रोग्राम चला रही है।

जून में ग्रश ने पृथ्वी के बाहर जीवन होने की बात कही थी। ग्रश ने दावा किया था कि पृथ्वी के बाहर जीवन है और अमेरिकी खुफिया एजेंसियों के पास दूसरे ग्रह से जुड़ी बेहद अहम जानकारियां भी मौजूद हैं। उन्होंने कहा था कि वो संसद के सामने इसके सबूत पेश करने को भी तैयार हैं।

इसके बाद विपक्षी पार्टी रिपब्लिकन ने तुरंत इस मुद्दे पर सुनवाई के लिए जांच कमेटी का गठन किया। रिपब्लिकन के नेता बर्शेट ने कहा था कि वो इस बात में यकीन रखते हैं कि एलियन हैं। इस सुनवाई में ग्रश के अलावा पूर्व नेवी कमांडर डेविड फ्रेवर और रिटायर्ड नेवी पायलट रायन ग्रेव्स भी शामिल हुए थे। इस दौरान इन दोनों ने ही एलियन स्पेसक्राफ्ट देखने का दावा किया।

अमेरिका ने UFO दिखने की बात स्वीकारी थी

  • 2020 में UFO की जांच के लिए बनाई गई अमेरिकी टास्क फोर्स ने एक रिपोर्ट जारी की थी। 9 पेज की इस रिपोर्ट में अमेरिकी गवर्नमेंट सोर्स के जरिए 2004 से 2021 के बीच 144 UFOs के बारे में जानकारी दी गई थी। पेंटागन इन्हें अनआइडेंटिफाइड एरियल फिनॉमिना यानी UAP कहता है।
  • खास बात ये थी कि रिपोर्ट में UFOs देखे जाने की न तो पुष्टि की गई और न ही इस बात को खारिज किया गया। ये जरूर कहा गया कि इस तरह के ऑब्जेक्ट पृथ्वी पर एलियंस के आने का संकेत हो सकते हैं।
  • 1947 से 1969 तक अमेरिकी एयरफोर्स ने प्रोजेक्ट ब्लू बुक नाम से एक जांच ऑपरेशन चलाया। इसमें कुल 12,618 रिपोर्ट्स की जांच में पाया गया कि यह सामान्य घटनाएं थीं। जबकि 701 रिपोर्ट्स के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं निकल सकी।
  • 2007 से 2012 के बीच एडवांस्ड एयरोस्पेस थ्रेट आइडेंटिफिकेशन प्रोग्राम (AATIP) लॉन्च हुआ। बाद में यह प्रोग्राम बंद कर दिया गया। इन सभी प्रोजेक्ट की रिपोर्ट सीक्रेट रखी गई। 2020 में एक प्रोग्राम शुरू किया गया, जिसे अनआइडेंटिफाइड एरियल फिनॉमिना टास्क फोर्स नाम दिया गया।
  • 24 जून 1947 को आई ‘उड़न तश्तरी’ की पहली खबर
    24 जून 1947 को मशहूर बिजनेसमैन और पायलट केनेथ अर्नोल्ड वॉशिंगटन स्टेट में माउंट रेनियर के पास उड़ान भर रहे थे। केनेथ ने 9 चमकीले ऑब्जेक्ट्स को एक साथ V पैटर्न में आसमान में उड़ते हुए देखा। उनकी स्पीड लगभग 2700 किमी प्रति घंटा थी, जो उस वक्त की किसी भी टेक्नोलॉजी से तीन गुना ज्यादा तेज थी।

    केनेथ ने बताया कि उन्होंने आसमान में तश्तरी जैसे ऑब्जेक्ट देखे हैं, जिसे अगले दिन कई अखबारों ने छाप दिया कि आसमान में उड़ती हुई तश्तरी देखी गई है। इसके बाद UFO देखने की घटनाएं बढ़ गईं।

Advertisement
Gold And Silver Updates
Rashifal
Market Live
Latest news
अन्य खबरे