Monday, May 20, 2024

समय के साथ बदलाव: RSS के विद्यालय में बढ़ा अंग्रेजी का चलन, CBSE से जोड़ने की तैयारी

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS)के विद्यालय में समय की मांग को देखते हुए अंग्रेजी का चलन तेजी से बढ़ रहा है. यही कारण है कि प्रयागराज में 6 से बारहवीं तक की कक्षाएं छात्र संख्या के अनुरूप अंग्रेजी माध्यम से भी चलने लगी हैं. दरअसल संघ के अनुषांगिक संगठन विद्या भारती से संबंधित स्कूलों में अंग्रेजी के क्रेज में बढ़ोतरी देखी जा रही है.

प्रयागराज में सबसे पहले रानी रेवती देवी सरस्वती विद्या निकेतन इंटर कॉलेज राजापुर में अंग्रेजी माध्यम से पढ़ाई शुरू हुई थी. वर्तमान में यहां बारहवीं तक हिंदी के साथ ही अंग्रेजी माध्यम से भी पढ़ाई हो रही है. इसी क्रम में ज्वाला देवी सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज सिविल लाइंस और रसूलाबाद में भी अंग्रेजी माध्यम से कक्षाएं संचालित हैं. वहीं, नैनी में 1992 से संचालित माधव ज्ञान केंद्र इंटर कॉलेज को केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से संबंधित किया जा रहा है. यूपी बोर्ड संचालित इस स्कूल को मान्यता देने के लिए सीबीएसई की टीम दौरा कर चुकी है. प्रयागराज में विद्या भारती का कोई स्कूल अब तक सीबीएसई से संचालित नहीं है.

अंग्रेजी माध्यम में किताबों का प्रकाशन शुरू
विद्या भारती के सरस्वती प्रकाशन निराला नगर लखनऊ में प्राइमरी और जूनियर कक्षाओं की किताबें अंग्रेजी में भी शुरू कर दी है. जबकि अन्य कक्षाओं में राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद की अंग्रेजी माध्यम की किताबें पढ़ाई जा रही हैं. ज्वाला देवी सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य युगल किशोर मिश्रा ने बताया कि पिछले 5 सालों में सभी कक्षाओं में अंग्रेजी माध्यम के सेक्शन चलने लगे हैं. पुरानी कक्षाओं को अंग्रेजी में कक्षाएं लेने के लिए प्रशिक्षण दिया जा रहा है. शिक्षण का माध्यम अंग्रेजी किया गया है. विद्या भारती की परंपरा का पूरे समर्पण के साथ पालन कर रहे हैं.

शिक्षकों का हो रहा प्रशिक्षण
युगल किशोर मिश्रा ने बताया कि विद्या भारती के स्कूलों में अंग्रेजी माध्यम से कक्षाएं संचालित करने के लिए पुराने शिक्षकों को समय-समय पर प्रशिक्षण दिया जा रहा है. यही नहीं अब अंग्रेजी के शिक्षकों की भर्ती में प्राथमिकता दी जा रही है.

Sources for more

Advertisement
Gold And Silver Updates
Rashifal
Market Live
Latest news
अन्य खबरे